योग के बाद अब कुम्भ मेला उभरा दुनिया के नक़्शे पर

जैसे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की घोषणा के बाद भारतीय योग दुनिया के नक़्शे के पर आ गया, इस बार बारी प्रसिद्ध कुम्भ मेले की है. मोदी सरकार ने प्रसिद्ध कुंभ मेले की ओर दुनिया का ध्यान आकर्षित कराते हुए इसे यूनेस्को की लिस्ट में शामिल कराने की दिशा में कदम बढ़ाया. इसके साथ ही हिंदुओं के इस बड़े तीर्थ मेले को ग्लोबल इनटैन्जिबल कल्चरल हेरिटेज लिस्ट में शामिल कर लिया गया है.

इस बात की जानकारी फ्रांस स्थिति भारतीय दूतावास में भारतीय राजदूत विनय क्वात्रा ने दी.

विनय क्वात्रा ने ट्विटर पर लिखा कि भारत को बधाई हो. कुंभ मेले को यूनेस्को की इनटैन्जिबल कल्चरल हेरिटेज लिस्ट में शामिल कर लिया गया है.

कुंभ मेले का इतिहास

इस मेले का इतिहास कम से कम 850 साल पुराना है. माना जाता है कि आदि शंकराचार्य ने इसकी शुरुआत की थी, लेकिन कुछ कथाओं के अनुसार कुंभ की शुरुआत समुद्र मंथन के आदिकाल से ही हो गई थी.

मंथन में निकले अमृत का कलश हरिद्वार, इलाहबाद, उज्जैन और नासिक के स्थानों पर ही गिरा था, इसीलिए इन चार स्थानों पर ही कुंभ मेला हर तीन बरस बाद लगता आया है. 12 साल बाद यह मेला अपने पहले स्थान पर वापस पहुंचता है. जबकि कुछ दस्तावेज बताते हैं कि कुंभ मेला 525 बीसी में शुरू हुआ था.

कुंभ मेले के आयोजन का प्रावधान कब से है इस बारे में विद्वानों में अनेक भ्रांतियाँ हैं. वैदिक और पौराणिक काल में कुंभ तथा अर्धकुंभ स्नान में आज जैसी प्रशासनिक व्यवस्था का स्वरूप नहीं था. कुछ विद्वान गुप्त काल में कुंभ के सुव्यवस्थित होने की बात करते हैं. परन्तु प्रमाणित तथ्य सम्राट शिलादित्य हर्षवर्धन 617-647 ई. के समय से प्राप्त होते हैं. बाद में श्रीमद आदि जगतगुरु शंकराचार्य तथा उनके शिष्य सुरेश्वराचार्य ने दसनामी संन्यासी अखाड़ों के लिए संगम तट पर स्नान की व्यवस्था की.

कुम्भ मेले के वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट में शामिल होने से न सिर्फ अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि देश से भी इस मेले में शरीक होने वालों की संख्या कई गुना बढ़ जायेगी. बड़ी बात यह है कि इस लिस्ट में शामिल होने के बाद इन मेलों में व्यवस्था को अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक बेहतर बनाने का काम सरकार और लोगों के भी जिम्मे आएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.