जल्द मोहब्बतों की दूकान खोलने वाले हैं अखिलेश यादव

नेमो निष्कर्ष

उत्तरप्रदेश के शोहदों की अकल तो आदित्ययोगी सरकार ने ठिकाने लगा दी है. ऐसे में प्रदेश के पूर्व युवा मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव का यह फर्ज बनता है कि वे उन शोहदों को बचाने और उन्हें मोहब्बत के नए नए तरीके सिखाने के लिए आगे आएं सो उन्होंने इसके लिए निर्णय ले लिया है, सिर्फ घोषणा बाकी है. और वैसे भी उनकी राजनैतिक दुकानदारी तो बंद हो ही चुकी है.

गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव उत्तरप्रदेश के वे पहले मुख्यमंत्री थे जिन्होंने बलात्कार तक में मोहब्बत खोज ली थी और कहा थी कि लड़कों से गलती हो ही जाती है. ऐसे में अब उनके लायक पुत्र पर यह आन पड़ी है कि वे उन गलती करने वालों को सजा से बचाएं. साथ ही साथ मोहब्बत करने के नए नए सुरक्षित तरीके सिखाएं.

आज अपने इन्ही इरादों को जाहिर करते हुए उत्तरप्रदेश के इस पूर्व युवा मुख्यमंत्री ने मोहब्बत पर कुछ शेरो शायरी पढ़ी और लगे हाथ देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को सुना भी दिया कि वे क्या जानें मोहब्बत के बारे में.

उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्विटर पर लिखा,

‘मोहब्बत खींच ही लाती है अपने आशियाने में,
मगर वह क्या जाने जो हैं अकेले इस जमाने में.’

इस ट्वीट के जरिए अखिलेश ने पीएम मोदी को निशाने पर लिया है. और लें भी क्यों ना. जो व्यक्ति देश प्रेम में डूबा हुआ है, उसे अखिलेश यादव की ताजमहल वाली मोहब्बत कैसे समझ आ सकती है.

इसके बाद ट्विटर पर जो जंग छिड़ी और उसमे अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव समेत किन किन हस्तियों को कैसे कैसे घसीटा गया, बेहतर होता अगर आप स्वयं जाकर देख लेते.

इनमे से एक सबसे चर्चित कमेंट वह भी था जिसका हमने ऊपर उल्लेख किया है. हालांकि इस कमेंट में अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री को अय्याश प्रवत्ति का बताया गया है जो बलात्कार को लड़को से हुई गलती मानता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.