सबले बढ़िया : खबर छत्तीसगढ़िया

अजय सिंह बने नए मुख्य सचिव

प्रदेश सरकार के नये मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में निवर्तमान मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड से पदभार ग्रहण किया. श्री ढांड ने मुख्य सचिव कार्यालय में श्री सिंह का आत्मीय स्वागत किया और उन्हें नई जिम्मेदारी के लिए अपनी शुभकामनाएं दी. गौरतलब है कि राज्य सरकार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के वर्ष 1983 बैच के अधिकारी श्री अजय सिंह को मुख्य सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है. उनकी पदस्थापना का आदेश आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से जारी कर दिया गया. प्रदेश सरकार ने निवर्तमान मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड को भू-सम्पदा नियामक प्राधिकरण (रियल स्टेट नियामक प्राधिकरण-रेरा) के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया है.

छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड की परीक्षाओं के नतीजे

स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप ने आज शाम यहां मंत्रालय (महानदी भवन) के अपने कार्यालय कक्ष में छत्तीसगढ़ मदसा बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षाओं के नतीजे जारी किए. हाई स्कूल, हायर सेकेण्डरी पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ अवसर तथा ऊर्दू अदीब, ऊर्दू माहिर, ऊर्दू मोअल्लिम प्रथम एवं द्वितीय वर्ष की परीक्षा आयोजित की गई थी. श्री कश्यप ने उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी तथा असफल परीक्षार्थियों को निराश न होते हुए दोगुना मेहनत कर सफल होने के लिए प्रेरणा दी. इस अवसर पर छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष श्री मिर्जा ऐजाज बेग, सदस्य श्री साजिद पठान एवं श्री गुलाम कादर खान, स्कूल शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव श्री प्रदीप कुमार भटनागर, बोर्ड के सचिव डॉ. इम्तियाज अहमद अंसारी, विषय विशेषज्ञ श्रीमती अख्तर खान सहित छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड के अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित थे. परीक्षार्थीगण परीक्षा परिणाम छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड के कार्यालय के सूचना पटल एवं छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड की वेबसाइट www.cgmadarsaboard.com (डब्ल्यूडब्लयूडब्ल्यूडाटसीजीमदरसाबोर्डडॉटकाम) पर देख सकते हैं.

खुश हुए खल्लारी विधायक देख कर लाईट एंड साउंड शो

खल्लारी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री चुन्नी लाल साहू ने अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों के साथ नया रायपुर के पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो देखा. प्रकाश एवं ध्वनि के विशेष प्रभाव, तथा गीत-संगीत से सजे कार्यक्रम में पंच-सरपंचों को छत्तीसगढ़ से जुड़े पौराणिक आख्यानों, पुरातत्व, इतिहास, संस्कृति, पृथक राज्य बनने की कहानी और अब तक के विकास के सफर के साथ ही सरकार की योजनाओं की जानकारी दी गई.

विधायक श्री चुन्नी लाल साहू ने पुरखौती मुक्तांगन में पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए शासन की अनेक योजनाओं के बारे में बताया. उन्होंने पंच-सरपंचों के लिए शुरू की गई हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्यों के बारे में भी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इस दो दिनों के अध्ययन प्रवास में आप लोगों को यहां बहुत सी नई चीजें सीखने को मिलेंगी. उम्मीद है आप लोग यहां से लौटकर गांवों में और बेहतर काम करेंगे. योजना के तहत तीन जिलों महासमुंद, दुर्ग और बालोद के 500 पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन भ्रमण पर राजधानी रायपुर आए हुए हैं. इनमें दुर्ग के 203, बालोद के 171 एवं महासमुंद के 126 पंच-सरपंच शामिल हैं.

आदिवासी समाज के नेताओं से मिले डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से आज शाम यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में आदिवासी समाज के वरिष्ठ नेताओं ने मुलाकात की और विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श किया. इस अवसर पर स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, वन और विधि मंत्री श्री महेश गागड़ा, छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री जी.आर.राना और पूर्व संसदीय सचिव श्री सिद्धनाथ पैकरा सहित अन्य वरिष्ठ नेता और पदाधिकारी उपस्थित थे.

उच्च शिक्षा मंत्री ने किया कार्यालय का शुभारंभ

उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा एवं राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने आज यहां विज्ञान महाविद्यालय परिसर में राष्ट्रीय उच्च शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय और संभागीय क्षेत्रीय कार्यालय का शुभारंभ किया. इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री श्री पाण्डेय ने कहा कि प्रदेश का कोई भी युवा उच्च शिक्षा से वंचित नहीं होना चाहिए. किस कोने में कौन सी प्रतिभा छुपी है, उसे पहचानने की जिम्मेदारी उच्च शिक्षण संस्थाओं की है और इसके लिए प्रयास करना उच्च शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी है.

अपर मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर ने कहा कि महाविद्यालयों में राष्ट्रीय उच्च शिक्षा अभियान के अंतर्गत लोक निर्माण विभाग द्वारा कराए जा रहे अधोसंरचना विकास कार्यों का प्राचार्य निरीक्षण करें. इस अवसर पर राष्ट्रीय उच्च शिक्षा अभियान के परियोजना संचालक श्री भुवनेश यादव, आयुक्त उच्च शिक्षा श्री बसवराजु, राज्य उच्च शिक्षा परिषद के सदस्य पद्मश्री डॉ. ए.टी. दाबके, डॉ. इंदिरा मिश्र, पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाण्डेय, डॉ. पी.सी. चौबे सहित महाविद्यालयों के प्राचार्य उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.