भारत में फंसा तलाक बिल, अमेरिका सोच रहा है ले ही लूं तलाक

नरेश क्षत्री
नेमो ब्यूरो

एक तरफ राज्यसभा में तलाक का बिल दो महीने के लिए लटक गया है तो दूसरी तरफ अमेरिका भी लगे हाथ पाकिस्तान से पल्ला झाड़ने पर तुला हुआ है.

इसी के चलते आज पाकिस्तान को अमेरिका ने एक और बड़ा झटका दे दिया है.

7000 करोड़ गए हाथ से
ख़बरों के मुताबिक़ अमेरिका की ओर से पाकिस्तान को दी जाने वाली 7 हजार करोड़ की सैन्य मदद रोक दी गई है. अमेरिका ने कहा कि जब तक पाकिस्तान अफगान तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं करता, तब तक सैन्य मदद को पूरी तरह रोक दिया गया है.

शुक्रवार की शाम को अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता हिथर नॉर्ट ने कहा, “आज हम पाकिस्तान को दी जाने वाली सुरक्षा सहायता को निलंबित कर रहे हैं.” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को तभी फंडिंग मिलेगी जब वह आतंकवादी संगठनों के खिलाफ सख्त एक्शन ले.

मामला बिगड़ेगा दिनों दिन
ट्रंप के हालिया बयानों से ऐसा लगता है कि पाकिस्तान को लेकर अमरीका का रवैया अब दिनों दिन ज़्यादा सख़्त हो रहा है.

इससे पहले के राष्ट्रपतियों जैसे ओबामा और बुश को लगता था कि पाकिस्तान को फंडिंग देने से फ़ायदा होगा लेकिन अब पाकिस्तान को पुचकारने के बजाय डंडा दिखाया जाने लगा है.

अमेरिका के इरादे ऐसे हैं

अमरीका का इरादा तो अब पाकिस्तान को दी जाने वाले साढ़े पच्चीस करोड़ डॉलर की सैनिक मदद रोकने का है जो फैसला अब तक टलता आ रहा था. अमरीका पाकिस्तान को ये राशि हक्कानी नेटवर्क पर कार्रवाई करने की शर्त पर दे रहा था लेकिन इसका कोई ख़ास असर दिख नहीं रहा था.

भारत में फंसा तलाक बिल

वहीं जैसा कि तय था कि राज्यसभा में काम से कम मौजूदा सत्र में तलाक बिल पास नहीं हो सकता है. हालांकि यह तो बिलकुल तय है कि कांग्रेस के स्टैंडिंग कमेटी की बात किसी भी तरह से नहीं मानी जा सकती है और बीजेपी अपनी मर्जी मनवा के रहेगी. इन दो महीनों में गणित में बहुत कुछ बदलाव होने की संभावनाएं हैं जिनके चलते लग रहा है कि मार्च तक यह बिल थोड़े से बदलावों के साथ कानून की शकल ले ही लेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.