अपनी त्‍वचा पर लगाये कौन से एपीएफ वाली सनस्‍क्रीन

यूवी किरणों से बचने के लिए आपको सौंदर्य विशेषज्ञ अक्सर सनसक्रीन लगाने की सलाह देते हैं ताकि आपका चेहरा और धूप के सम्पर्क में आने वाली त्वचा को कोई नुकसान न पहुँचे। यदि आप बिना सनस्क्रीन के बाहर निकलते हैं तो आप अपनी त्वचा को खतरे में डाल देते हैं। ऐसे में वो सनस्क्रीन लगाना शुरू कर देते हैं।

लेकिन कई लोगों को ये नहीं मालूम होता है कि वो कितना एसपीएफ इस्तेमाल करें। वरना इससे चेहरे पर साइडइफेक्ट भी हो सकते हैं। आपको बता दें कि यदि सनस्क्रीन का इस्तेमाल न किया जाये, तो ये यूवी किरणें त्वचा में प्रवेश करके डीएनए में परिवर्तन ला देता है और इससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन का इस्तेमाल करने से पहले कितना एसपीएफ इस्तेमाल करना है, ये अवश्य जान लें।

एसपीएफ़ / सन प्रोटेक्शन फैक्टर क्या है?
एसपीएफ़ आपकी त्वचा को हानिकारक यूवी किरणों से बचाता है। इसलिए मार्केट में कई तरह का एसपीएफ मिलता है। एसपीएफ 15, आपकी त्वचा की रक्षा धूप से 150 मिनट तक करता है। यह 93 प्रतिशत तक यूवी किरणों को रोक देता है। यदि आप सनस्क्रीन नहीं लगाते हैं तो त्वचा 15 मिनट के बाद ही झुलसना शुरू कर देती है।

वहीं एसपीएफ़ 30, 97 प्रतिशत तक यूवी किरणों को रोक देती है और आपको उच्च रक्षा प्रदान करती है। हालांकि, एसपीएफ 15, एसपीएफ 30 के मुकाबले डबल सुरक्षा प्रदान करता है। लेकिन ये उस तरह से काम नहीं करता है जैसे कि एसपीएफ 30 करता है। वैसे डर्मेटोलॉजिस्ट का कहना है कि आप उच्च एसपीएफ वाले सनस्क्रीन को न लगाकर कम एसपीएफ वाले सनस्क्रीन को लगाएं और अगर जरूरत पढ़े तो दुबारा फेशवॉश करके पुन: सनस्क्रीन लगा लें। यानि इस हिसाब से एसपीएफ 15 लगाये तो ठीक रहेगा।

यदि आपका फील्डवर्क है तो दो-तीन घंटे में आप एसपीएफ लगा सकते हैं। सनस्क्रीन चुनते समय निम्न बातों को ध्यान में रखें –

जब आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें तो आपको एसपीएफ नम्बर के अलावा अन्य बातों का ध्यान भी रखना चाहिए कि ये वॉटरप्रुफ है या नहीं। कहीं पसीने में ये बह तो नहीं जाएगा। क्या ये अगले दो घंटे तक टिका रह पाएगा या नहीं। सनस्क्रीन को लगाते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि आप थोड़ा सा अधूरा सनस्क्रीन न लगाएं। इससे आपकी त्वचा की सुरक्षा नहीं हो पाएगी। यदि आप एसपीएफ 30 वाले सनस्क्रीन को आधा ही लगाएं तो ये एसपीएफ 15 जितनी सुरक्षा देगा। आपको बता दें कि त्वचा एरिया पर 2 mg/sq cm के हिसाब से सनस्क्रीन को एप्लाई करना चाहिए। अंत में, आप इस बात का ध्यान जरूर रखें कि सनस्क्रीन अच्छे ब्रांड का होना चाहिए और इसकी एक्सपॉयरी डेट अवश्य देख लेनी चाहिए। इससे आपकी त्वचा स्वस्थ रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.