जियो जिन्दा करेगा गली नुक्कड़ की किराना दुकानों को

नेमो बिज़नेस

टेलीकॉम सेक्टर में धमाकेदार एंट्री के साथ उठापटक मचाने वाला रिलायंस जियो पहली बार प्रॉफिट में आ गया है तो दूसरी ओर एयरटेल ओर वोडाफोन जैसी कंपनियों का दम फूला हुआ है. अब रिलायंस जियो ने गली नुक्कड़ की किराना दुकानों से गठजोड़ कर ना केवल उनकी दुकानदारी चमकाने का निर्णय लिया है बल्कि इससे वह अपनी ब्रांडिंग पर हो रहे खर्च को काफी हद तक कम भी कर लेगा.

ख़बरों के मुताबिक़ रिटेल कंपनियां जहां एक ओर मिडिल क्लास को टारगेट कर काम कर रही हैं, वहीं जियो ने इससे भी नीचे जाकर लोअर मिडिल क्लास को केंद्र में रख कर अपनी रणनीति को तैयार करना शुरू कर दिया है. ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट की ओर से ई-कॉमर्स मार्केट में जमकर निवेश किया जा रहा है, वहीं मुकेश अंबानी का टारगेट गली-नुक्कड़ पर मौजूद किराना दुकानें हैं.

रिलायंस जियो ने अपने सब्सक्राइबर्स को डिजिटल कूपन ऑफर करने का प्लान बनाया है. इसके जरिए वे किराना स्टोर्स से डिस्काउंटेड रेट पर सामान की खरीद कर सकेंगे. जियो की ओर से डिस्काउंट पर अपना पैसा खर्च नहीं किया जाएगा.

इस प्रक्रिया में मैन्युफैक्चरर्स और किराना दुकानों के बीच जियो बिचौलिये की भूमिका में होगा. इससे मैन्युफैक्चरिंग ब्रैंड्स को मुफ्त में पब्लिसिटी मिलेगी, जबकि किराना स्टोर्स के ग्राहकों में इजाफा होगा. इसके अलावा जियो को भी इससे अपने ग्राहकों को बनाए रखने में मदद मिलेगी.

इस साल स्कीम को पूरी तरह लॉन्च करने से पहले कंपनी कुछ शहरों में इसे पायलट प्रॉजेक्ट की तरह चलाया जा रहा है. ब्रांड्स और किराना स्टोर्स को लिंक करने का जियो का यह प्लान बाजार में जंगल की आग की तरह फैल सकता है. आप यह भी कह सकते हैं कि यह प्लान टेलिकॉम सेक्टर से लेकर रिटेल मार्केट तक तहलका मचा सकता है.

इससे पहले सितंबर 2016 में रिलायंस जियो ने 26 अरब डॉलर के टेलिकॉम मार्केट में एंट्री कर तहलका मचाया था. तब से ही रिलायंस जियो को लगातार घाटा हो रहा था लेकिन दिसंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी को पहली बार मुनाफा हुआ है. जियो को 504 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है. वहीं, एयरटेल समेत तमाम दिग्गज टेलिकॉम कंपनियां अभी प्रतिस्पर्धा के कारण घाटा झेल रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.