आइये जाने कि आखिर क्या फर्क हैं Li-Fi और Wi-Fi में ?

इंटरनेट के इस दौर में आजकल हम तकनीक के रूप में WI-FI का प्रयोग कर रहे हैं. आने वाले समय में हम WI-FI से भी 100 गुना तेज टेक्नोलॉजी का उपयोग करेंगे. जिसका नाम है LI-FI. अब आप सोचते होंगे कि LI-FI तकनीकी क्या है. तो आइये जानते हैं LI-FI के बारे में और क्या फर्क हैं Li-Fi और Wi-Fi में?

Li-Fi का पूरा नाम है – लाइट फिडेलिटी. इसका आविष्कार एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हेराल्ड हास ने 2011 में किया. Wi-Fi की तरह ये भी एक वायरलैस नेटवर्किंग सुविधा है.

Wi-Fi रेडियो फ्रीक्वेंसी पर आधारित है जबकि Li-Fi प्रकाश पर आधारित सर्विस है जो Wi-Fi के मुकाबले 100 गुना तेजी से डाटा का आदान-प्रदान कर सकती है.

इस तकनीक में डेटा ट्रांसमिशन के लिए LED बल्ब का इस्तेमाल किया गया है यानी इस तकनीक में डेटा का ट्रांसफर विज़िबल लाइट कम्युनिकेशन के ज़रिये होता है.

इसके काम करने के तरीके को समझने के लिए आप अपने टीवी के रिमोट का उदाहरण ले सकते हैं क्योंकि ये तकनीक कुछ हद तक टीवी रिमोट की तरह की काम करती है.

प्रयोगशाला में जांच के दौरान Li-Fi तकनीक ने प्रति सेकेंड 224 गीगाबाइट की स्पीड प्राप्त की यानी इस तकनीक के ज़रिये 1 जीबी से ज्यादा की 18 फिल्मों को 1 सेकंड में डाउनलोड करना संभव हो जायेगा.

Li-Fi तकनीक का बहुत बड़ा फायदा ये है कि ये Wi-Fi की तरह, दूसरे रेडियो सिग्नल के लिए अवरोध नहीं बनता है इसलिए इसका इस्तेमाल ऐसी जगहों पर बड़ी आसानी से किया जा सकेगा जहाँ रेडियो सिग्नल में अवरोध की समस्या आती है.

इतनी सारी खूबियों वाली इस Li-Fi तकनीक में एक खामी भी है कि लाइट पर आधारित होने के कारण ये तकनीक Wi-Fi सिग्नल की तरह, दीवार या किसी ठोस वस्तु के आर-पार जाने में सक्षम नहीं होगी.

इतना सब जान लेने के बाद, आप ये तो समझ ही गए हैं कि Li-Fi के आते ही इंटरनेट की दुनिया एक बार फिर से पूरी तरह बदल जायेगी लेकिन इस तकनीक का आनंद लेने के लिए हमें थोड़ा इंतज़ार तो करना ही होगा, तब तक हमारी इंटरनेट की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए Wi-Fi है ना !

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी. अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे. हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे.

यह भी देखें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.