कर्नाटक में बन सकती है खिचड़ी सरकार

नेमो बैंगलोर ब्यूरो

इस बार कर्नाटक में खिचड़ी सरकार बनने के पूरे आसार दिख रहे हैं. देश में मोदी सरकार आने के बाद यह पहला राज्य होगा जहां भारतीय जनता पार्टी को पूरा बहुमत न मिले और उसे जेडीएस से हाथ मिलाने पड़ें. वैसे भी पहले येदुरप्पा और कुमारस्वामी ऐसी खिचड़ी सरकार चला चुके हैं.

ख़बरों के मुताबिक़ इस बारे में कांग्रेस पार्टी आंतरिक सर्वे करा चुकी है और राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को राहुल गाँधी दिल्ली बुला कर खरी खोटी सुना चुके हैं. कांग्रेस का आंतरिक सर्वे पार्टी को भारी नुक्सान होने की सम्भावना जता रहा है.

कांग्रेस के भीतरी सूत्रों की मानें तो सर्वे के बाद यह बात सामने आई है कि हिमाचल के बाद कर्नाटक में उसकी कुर्सी पर तलवार लटक रही है. हालांकि, रिपोर्ट के सामने आने के बाद पार्टी ने ऐसा कोई सर्वे कराने से इनकार किया है और इसे बीजेपी की साजिश बता रही है.

लेकिन पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने यह साफ़ किया है इस रिपोर्ट के बाद ही सिद्धारमैया को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तलब किया और उन्हें खरी खोटी सुनाई गई है.

वहीं इस बारे में चैनल टाइम्स नाउ ने भी एक रिपोर्ट दी है जिसमे कहा गया है कि राज्य में पार्टी के लिए काफी मुश्किल स्थिति बनी हुई है और हार से बचने के लिए कांग्रेस को दलित चेहरा मुख्यमंत्री के रूप में आगे करना होगा. सर्वे में कहा गया है कि आगामी विधानसभा चुनाव में जनता दल को 65 से अधिक जबकि भारतीय जनता पार्टी को 75 से अधिक सीटें मिल सकती हैं.

ख़बरों के मुताबिक इस सर्वे में राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री पद का मजबूत दावेदार नहीं माना गया है. सीएम की कुर्सी के लिए जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी को अधिक नंबर दिए गए हैं. सर्वे में कांग्रेस को 77-80 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है. इसी के साथ पार्टी को लगभग 50 सीटों के नुकसान होने का अनुमान लगाया गया है. सबसे दिलचस्प बात यह है कि सर्वे में जेडीएस को सबसे अधिक फायदा होते दिखाया गया है.

हालांकि, रिपोर्ट के बारे में सवाल किए जाने पर कांग्रेस नेताओं का कहना है कि ऐसा कोई सर्वे पार्टी ने नहीं कराया है. पार्टी का कहना है कि उनकी ओर से कराए गए सर्वे में कांग्रेस के एक बार फिर राज्य में सकारात्मक परिणामों के साथ सत्ता में वापसी करने का अनुमान लगाया गया है. पार्टी ने इस रिपोर्ट को बीजेपी की साजिश बताया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.