फासले को हौसले से हराकर पहचान बनाई है पीयूष ने

गगन चौकसे
इंदौर नेमो ब्यूरो

जी हाँ, किसी ने सही कहा है कि फासले है तो मुश्किलें है और मुश्किलें है तो हौसला है. और ऐसी हौसले से मंजिलों को तय करने वाले शख्श का नाम है पीयूष वरगाड़िआ.

इस बार न्यूज़ पॉजिटिव में महज एक साल में अपने बिज़नेस मॉडल  की सक्सेस स्टोरी को टर्न अराउंड करने वाले पीयूष वरगाड़िआ पर बात करेंगे. अपने अनुभव और लगातार मेहनत से बन गए नए स्टार्ट अप की इबारत लिखने वाले पीयूष ने लीक से हटकर अपने ब्रांड LOL  को आगे बढ़ाया और इस शानदार सफलता ने उन्हें दूसरो से आगे खड़ा कर दिया जो लगभग उनके बराबरी के व्यवसायी थे या कहे की अनुभव मैं उनसे ज्यादा थे. यंग अचीवर्स आज एक बड़ी उपलब्धि है और कल की तैयारी भी. महज ३० साल के पीयूष ने ये मुकाम अपने नाम कर लिया और ये दौर जारी है.

छोटे पैमाने से की थी  शुरुआत 

इंदौर के बंगाली चौराहे स्थित अपने रिटेल आउटलेट से सफर जारी करने वाले पीयूष ने लगातार खुद को अपडेट किया और इस मुकाम पर आने के लिए दिल से काम किया. गारमेंट फील्ड मैं अनुभव से ज्यादा रिस्क है क्रेडिट की और उसके बाद प्रतिस्पर्धा का सामना भी करना पड़ता है. इस सफर मैं अपने फैसले लेने पड़ते है और स्टाइल को समझ कर उन्होंने अपना सफर आगे बढ़ाया. आज अनुभव और मैनजमेंट के बलबूते उनके शहर ही नहीं आसपास भी अपना बिज़नेस फ़ैल चुका है.

दूसरे शहर में भी दे रहे है अवसर 

अपने रिटेल चैन LOL को देवास, विदिशा जैसे शहरो के अलावा अन्य छोटे शहरो मैं भी बेहतर रिस्पॉन्स मिल रहा है जो की एक बेहतर शुरआत है. इससे कई लोगो को रोजगार मिलेगा और कंपनी को तरक्की. सबसे ख़ास बात है की छोटी सी पूँजी से सिलसिला शुरू हो सकता है. उनका स्पोर्ट्स ब्रांड TFT  भी मार्किट मैं आ चुका है.

न्यूज़ मोर्चा ने किया था सम्मानित 

एक विशेष कार्यक्रम मैं न्यूज़ मोर्चा की ओर से पधारे श्री प्रह्लाद दास मोदी ( अनुज श्री नरेंद्र मोदी ) भी श्री पीयूष को सम्मानित कर चुके है जन्मदिन पर न्यूज़ मोर्चा की ओर से शुभकामनाये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.