बेसहारा राधाबाई को मिली पक्की छत, सच हुआ सपना

सोनम मिश्रा
रायपुर नेमो ब्यूरो

रायपुर जिले के ग्राम पंचायत फरफौद निवासी श्रीमती राधाबाई चंद्राकर के ऊपर तब पहाड़ टूट पड़ा जब उनके पति की अचानक मौत हो गयी. 10 साल से वे अकेले ही विषम परिस्थितियों में बेटियों का पालन पोषण करती आ रही हैं.

घर के मुखिया का इस तरह अचानक चले जाना साथ ही उसके पीछे चार बेटियों का पालन-पोषण और उनकी जिम्मेदारी उठाना इस गरीब राधाबाई के लिए मुश्किल भरा था. ऐसे में मजदूरी कर कच्चे मकान में राधाबाई किसी तरह अपना और अपने परिवार का गुजर-बसर कर थी. बरसात के दिनों में अक्सर छत टपकने की समस्या का सामना करना पड़ता था. लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना उनके घर मे खुशिया लेकर आई है.

आज राधाबाई के पास न केवल पक्का मकान है बल्कि उसके घर में गैस चूल्हा और पक्का शौचालय भी बन गया है. इतना ही नहीं, उसे प्रतिमाह पेंशन योजना का लाभ भी मिल रहा है. राधाबाई की दो बेटियों का विवाह हो चुका है तथा दो बेटियां पढ़ाई कर रही है. श्रीमती राधा बाई ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिली राशि से उन्होंने पक्का मकान बनवाया है. उन्होंने यह भी बताया कि मकान बने एक वर्ष हो गए है और मकान के बनने से परिवार को रहने में बहुत सुविधा मिली है.

राधाबाई कहती हैं कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) हम जैसे गरीब व जरूरतमंद परिवारों के लिए वरदान साबित हुई है. कच्चा मकान होने से कभी भी गिर जाने का डर हमेशा बना रहता था लेकिन अब पक्का मकान है. जो कार्य इतने वर्षों से पूरा ना हुआ वो आज हो सका है. ग्राम पंचायत द्वारा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन और दो बर्नल चूल्हा भी मिला है. गैस चूल्हा मिलने से लकड़ी के धुंआ से मुक्ति मिली है और गैस से खाना भी जल्दी बन जाता है.

सरपंच द्वारा मिली सहायता
ग्राम पंचायत के सरपंच हिम्मत चंद्राकर ने अपने गांव के जरूरतमन्दो को सरकारी योजनाए का लाभ देने के लिए बेहद मशक्कत की है. राधाबाई के जीवन मे खुशिया लाने में सरपंच की महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Attention! Don\'t Copy The Content.